एन. रघुरामन का कॉलम: आप पुरानी चीजों के साथ ही कुछ नया आजमाकर समर-लुक को निखार सकते हैं

આત્મહત્યા: ‘ભગવાન મેં આ રહા હું’ કહીને દર્દીની સિવિલના ત્રીજા માળેથી મોતની છલાંગ
આત્મહત્યા: ‘ભગવાન મેં આ રહા હું’ કહીને દર્દીની સિવિલના ત્રીજા માળેથી મોતની છલાંગ
May 13, 2022
The Essex Serpent review: A visually ravishing melodrama | Digital Trends
The Essex Serpent review: A visually ravishing melodrama | Digital Trends
May 14, 2022
एन. रघुरामन का कॉलम: आप पुरानी चीजों के साथ ही कुछ नया आजमाकर समर-लुक को निखार सकते हैं


  • Hindi News
  • Opinion
  • N. Raghuraman’s Column You Can Enhance Your Summer Look By Trying Something New With Old Things

6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
एन. रघुरामन का कॉलम: आप पुरानी चीजों के साथ ही कुछ नया आजमाकर समर-लुक को निखार सकते हैं

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु

मुझे नहीं पता आपको स्कूल में गणित में कितने अंक मिले थे, लेकिन नीचे दी गई जानकारी इस मुश्किल मौसम में वार्डरोब मैथेमेटिक्स में पास होने के लिए यकीनन बेहतरीन गाइड का काम करेगी।

सवाल है : जब तेज गर्मी में पसीने से बेहाल हों, तब ऑफिस में वैसी ड्रेस कैसे पहनें, जो चिपचिपी न हो, और फॉर्मल होने के साथ ही थोड़ी कैजुअल भी हो? जवाब है : एक वॉव स्कर्ट+ कैमीसोल+ बीच सैंडल्स। यह गर्मी को हराने के लिए फैशन एडिटर का सीक्रेट हथियार भी है। आप सोच रहे हैं कि यह क्या है? चलिए मैं आपको बताता हूं।

आपको 70 के दशक का फैशन याद है? हाई वेस्टेड लॉन्ग स्कर्ट, जिन पर बबलगम पिंक वाले फोटोग्राफिक फ्लोरल प्रिंट व चुन्नटें हों? इसी रेट्रो लुकिंग कॉटन पॉपलिन वैरायटी को आजकल मुंबई-दिल्ली की फैशन गलियों में ‘वॉव स्कर्ट्स’ कहते हैं। हर उम्र की स्त्रियां इन्हें पसंद कर रही हैं, क्योंकि वे हलकी-सहज होती हैं, खासकर गर्मियों में। लूज़-फिटिंग कैमीसोल शरीर के ऊपरी हिस्से के लिए अंडरगारमेंट है, जिसे अमूमन शोल्डर स्ट्रैप्स से बांधते हैं।

बीच सैंडल्स को समर सैंडल्स भी कहते हैं और ये 1960 के दशक में डिजाइन की गई थीं। पर इस हफ्ते की शुरुआत में मिलान, लंदन, न्यूयॉर्क जैसे शहरों में भिन्न लेबल्स से लॉन्च किए जाने के बाद अब उन्हें नया जीवन मिला है। ये स्लिप-ऑन और एंकल-टाईज़ दोनों के साथ आती हैं। इस स्टाइल पर खाकी, हरा, काला, नेचरल रोप रंग फबते हैं। इनमें से कुछ में स्लांटेड किटन हील्स होते हैं, जबकि फोमी आरामदेह सोल के साथ इनके तलवे सपाट होते हैं।

अगर आप सोच रहे हैं कि इनमें से कुछ आपके वार्डरोब में नहीं हैं और आपको 1960 या 70 के दशक के फैशन वाली कोई नई चीज खरीदनी है तो आपके लिए एक और संकेत यह रहा : फैशन जानकार जानते हैं कि एक सीजन अपडेट का मतलब हमेशा ही यह नहीं होता कि कुछ नया खरीदें। उनकी यह आदत है कि वे पुरानी फेवरेट चीजों की स्टाइलिंग करते हुए उन्हें फ्रेश लुक दे देते हैं। थोड़ा-सा यहां समेटा, थोड़ा-सा वहां आस्तीनों को मोड़ा और हो गया। आप कंफ्यूज हो रहे हैं?

तो यह पढ़ें : 1. पुरानी जैकेट कंधों पर डालें और उसके प्रति बेपरवाह होने का दिखावा करे, भले वह फिसले। 2. टॉप का अगला हिस्सा कमर में खोंसे और उसे एक आकार दें और बाकी खुला छोड़ दें। 3. कभी भी ओवर-शर्ट न पहनें, इसके बजाय इसे कंधों पर स्कार्फ की स्टाइल में बांधेंं। या शर्ट में वैसी गांठ लगाएं, जैसे अमिताभ बच्चन ने दीवार में लगाई थी। 4. अगर इसे ऐसे पहन रहे हैं तब भी आस्तीनें खींचें ताकि आपके शर्ट या ब्लाउज की बेस-लेयर दिखे। इससे बांहें लंबी दिखेंगी।

2022 में मैरीगोल्ड, नारंगी, नीला, भूरा फ्लोरल, ज़ेब्रा ब्लैक स्ट्रिप्स रंग चलन में हैं, ये आपको अधिक ब्राइट और लंबा दिखाते हैं। अभिनेत्री गीता बाली ने अनेक फिल्मों में ऐसे ही रंग पहने थे। गर्मियों में एक और चीज तेजी से चलन में आई है- ढीली सफेद शर्ट, जो साइज में ट्रिपल एक्स से काफी बड़ी हो लेकिन कंधों के बाद लूज़ हो।

इन्हें सामान्यतया जींस व स्लिप-ऑन स्लिपर्स के साथ पहनते हैं। एंकल-टाइड शूज़ जींस के साथ नहीं फबते। ऐसा ही ज्वेलरी के साथ है। स्कर्ट आउटफिट में पैर दिख रहे हैं तो महिलाओं की पसंद पायलें हैं और जींस व लूज़ शर्ट के साथ मैंने हमेशा ब्रेसलेट पहने देखा है। फैशन के प्रति सतर्क महिलाएं हमेशा गर्दन-कानों को मिनिमलिस्टिक लुक देती हैं। गर्दन में स्ट्रिंग चेन और कानों में एक स्टड, वो भी एक नग वाले स्टड को वरीयता देती हैं।

फंडा यह है कि फैशन ट्रेंड्स के साथ खुद को अपडेट करते रहना चाहिए, लेकिन इसके लिए कुछ नया खरीदना जरूरी नहीं। आप पुरानी चीजों के साथ ही कुछ नया आजमाकर समर-लुक को निखार सकते हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.